गाजीपुर: बिजलीकर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल, ये है वजह

गाजीपुर: मंगलवार से बिजलीकर्मियों की दो दिवसीय हड़ताल शुरू हो गई। बिजलीकर्मियों ने ये हड़ताल विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के आह्वान पर शुरू की है। इतना ही नहीं बिजलीकर्मियों ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं लेता है तो वे बड़े आंदोलन को बाध्य होंगे।

बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता आरआर प्रसाद ने इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2018 का विरोध करते हुए आगरा फ्रेंचाइजी एवं ग्रेटर नोएडा का निजीकरण निरस्त करने की मांग की। और तो और हड़ताल करने वाले बिजलीकर्मियों ने बिजली निगमों के एकीकरण कर राज्य विद्युत परिषद का गठन करने, पुरानी पेंशन बहाली, संविदा कर्मियों को नियमित करने और बिजली कर्मचारियों के वेतन विसंगतियों को दूर करने की आवाज उठाई।

विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक निर्भय नारायण सिंह ने कहा कि इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2018 में विद्युत वितरण निजी घरानों द्वारा व आपूर्ति उपलब्ध सरकारी संरचनाओं से वर्तमान निगमों द्वारा किए जाने का प्राविधान किया गया है ताकि मनमाना विद्युत बिल जनता से वसूलने तथा  निजी घरानों को बेरोक-टोक सौंप कर होने वाले अतिरिक्त लाभ में अपनी भी हिस्सेदारी उपजायी जा सके। मालूम हो कि उपकेंद्रों के संचालन करने वाले कर्मी हड़ताल से बाहर हैं इसलिए आपूर्ति पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ा।