वाराणसी: एक दिवसीय दिव्यांग उपकरण जांच-माप कैंप में बांटे गए उपकरण 

वाराणसी: सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के अधीन एक मिनी रत्न सार्वजनिक उपक्रम भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम 'एल्मिको' द्वारा राष्ट्रीय वयोश्री एवं एडिप योजनांतर्गत दिव्यांगों को सहायक उपकरण देने को आराजी लाइन ब्लॉक परिसर में एक दिवसीय दिव्यांग उपकरण जांच-माप कैंप लगाया गया। इसमें दिव्यांगों ने सहायक उपकरण के लिए अपना माप व जांच कराया। 

Image may contain: 2 people, people sitting and table

खंड विकास अधिकारी आराजी लाइन दिवाकर सिंह, ब्लाक प्रमुख नगीना सिंह पटेल प्रतिनिधि डा. महेंद्र सिंह पटेल एलिम्को की पीएसओ शिविर इंचार्ज प्रियंका सिंह ने संयुक्त रूप से इसका उदघाटन किया। बीडीओ दिवाकर सिंह ने कहा क्षेत्र के दिव्यांगों के लिए ट्राइसाइकिल, व्हील चेयर, बैसाखी, शू बेल्ट, कम सुनने वालों को कान की मशीन, बुजुर्ग छड़ी, चश्मा, ब्लाइंड स्टिक, कृत्रिम पैर, कैलिपर्स, कृत्रिम हाथ के लिए लोगों का चिन्हीकरण किया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने लाभार्थियों से मिलकर उनका हालचाल भी जाना। उन्होंने विकलांगों से कहा कि सरकार द्वारा उन्हें जो भी सहायता अनुमन्य होगी वह भी दी जायेगी। 

Image may contain: one or more people, people sitting, table, food and indoor

शिविर में विकलांगता प्रमाण पत्र भी बनाये गये। शिविर में सैकड़ों दिव्यांगों का चयनकर पंजीकरण किया गया। इसके अलावा शिविर में विधवा, वृद्धा, विकलांग पेंशन के फार्म भी जमा किए गए। शिविर में एडीओ पंचायत सुनील सिंह, एडीओ समाज कल्याण प्रमोद कुमार, अकाउंटेंट जय प्रकाश पांडे, स्वास्थ्य विभाग के डॉ संजय सिंह, डा. देव आनंद, ए बी सिंह डॉक्टर पीएस यादव, अमित यादव, चिकित्सा अधीक्षक वाईबी सिंह, स्पीच थैरेपिस्ट एंड हियरिंग असिस्टेंट सत्येंद्र कुमार सिंह और एल्मिको से अजय, डा. साहिल, संजय, सुरज त्रिपाठी, ऑडियोलॉजिस्ट कौशलेश साहू, रिहैब एक्सपर्ट अजय कुमार पंडित, सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता क्षेत्र पंचायत सदस्य संजीव सिंह, कमल पटेल, पूर्व प्रधान मो. अनवर समेत अन्य लोग उपस्थित थे।