रमजान में मतदान को लेकर हो रही बहस को इन्होंने बताया घिनौना

Thu, Mar 14, 2019 5:00 PM

प्रख्यात गीतकार और कवि जावेद अख्तर ने मई में रमजान के दौरान चुनाव आयोग द्वारा मतदान कराए को लेकर हो रही बहस को घिनौना करार दिया है। उन्होंने कहा है कि ऐसी बहस एकदम घिनौनी है। यह धर्मनिरपेक्षता के अस्तित्व पर भी सवाल उठाने वाली है। साथ ही अख्तर ने चुनाव आयोग से रमजान के दौरान चुनाव टालने के किसी भी अनुरोध पर विचार नहीं करने का भी आग्रह किया है।

गौरतलब है कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड एवं ऑल इंडिया मुस्लिम वूमेन पर्सनल लॉ बोर्ड के पदाधिकारियों ने रमजान के दौरान मुस्लिम मतदाताओं को होने वाली तकलीफ का हवाला देते हुए चुनाव आयोग से इस दौरान पड़ने वाली चुनाव की तारीखों पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया था।

एआईएमपीएलबी के वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य और लखनऊ के शहर काजी मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने इसे लेकर चुनाव आयोग से गुहार लगाई थी। हालांकि, चुनाव आयोग ने सभी अनुरोधों को दरकिनार करते हुए कहा है कि चुनाव कार्यक्रमों को तैयार करने के दौरान रमजान के मुख्य त्योहार ईद और शुक्रवार का ध्यान रखा गया है।