आलोचना पर ध्यान न देने से मिलेंगे ये लाभ

Thu, Apr 11, 2019 9:56 AM

यदि लोग आपकी आलोचना कर रहे हैं, तो बेहतर यही है कि आप उस पर ध्यान न देकर अपना काम करते हुए अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते चलें। दुनिया की बातों की परवाह करेंगे तो कुछ हासिल नहीं होगा। उदाहरण के लिए एक बाप अपने बेटे को घोड़े पर बैठाकर जंगल से गुजर रहा था। देखने वालों ने कहा कि नालायक बेटा खुद घोड़े पर बैठकर जा रहा है और पिता पैदल। स्वाभिमानी बेटे ने बाप को घोड़े पर बेठा दिया और खुद पैदल चलने लगा। इसके बाद लोगों ने पिता को कहा कि कैसा बाप है? बेटा पैदल चल रहा और खुद घोड़े पर सवार होकर जा रहा है।

अब बाप-बेटे दोनों पैदल चलने लगे, तो लोगों ने कहा कि पागल कहीं के, घोड़ा होते हुए भी पैदल जा रहे हैं। इसके बाद दोनों घोड़े पर सवार होकर चलने लगे, तो लोगों ने कहा कि घोड़े की जान लेकर ही मानेंगे। आखिरकार दोनों एक जगह रुककर सोचने लगे कि ये जालिम दुनिया किसी भी तरीके से किसी को जीने नहीं देना चाहती है। इसलिए बेहतर है कि दुनिया क्या कह रही है, इसकी परवाह किये बिना हम अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते रहें।