Ghazipur : कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन निर्वाचन के लिए हुआ नामांकन

गाजीपुर। कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन सामान्‍य निर्वाचन 2021 के लिए मंगलवार को अध्‍यक्ष पद पर काशीनाथ राय, शंकर सिंह यादव ने पर्चा दाखिल किया। वरिष्‍ठ...
More

    यूपी में एक्सप्रेसवे के किनारे सरकार ले आयी धांसू योजना, संवर जाएगा भाग्य

    यूपी को एक्स्प्रेस वे प्रदेश बनाने की तैयारी में CM योगी लग गए हैं. योगी यूपी में चारों तरफ एक्स्प्रेस वे का जाल बिछाने जा रहे हैं. इसी क्रम में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए योगी ने यमुना एक्सप्रेस वे पर तीन स्मार्ट सिटी बसाने की घोषणा कर दी है. ये तीनों शहर आगरा, मथुरा और अलीगढ़ में एक्सप्रेस वे से सटे बनेंगे.

    क्या -क्या होंगी सुविधाएं

    इन शहरों के विकास के लिए यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी एक बड़ी योजना तैयार कर रही है. इन शहरों में पांच-पांच लाख लोग रहेंगे. जिन्हें सारी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. तीनों शहरों में बिजली, पानी और सीवर आदि खुद के होंगे. साथ ही साथ यातायात, सुरक्षा और इंटरनेट कनेक्टिविटी भी विश्व स्तर की होगी.

    इन शहरों को औद्योगिक बनाने की भी है योजना

    Smart City Project releases third list, announcements of 30 new cities

    यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी इस योजना को दो हिस्सों में लागू करना चाहती है. एक तरफ आवासीय सुविधाएं तो दूसरी तरफ औद्योगिक विकास का कार्य भी होगा. जिन उद्योगों को भूमि उपलब्ध कराई जाएगी उनके लिए मूलभूत सुविधाएं भी दी जाएंगी. बताते चलें कि मथुरा में राया क्षेत्र के पास न्यू वृंदावन नाम से एक आधुनिक शहर बसाएगा. दूसरा शहर अलीगढ़ में टप्पल के पास बसाया जाएगा और तीसरा शहर आगरा में बसाया जाएगा. इसमें आधुनिकता के साक्षी साथ पर्यावरण का भी ध्यान रखा जाएगा.

    शहरों की विशेषताएं

    1- सड़क यातायात

    इन तीनों शहरों में सड़क यातायात को विश्व स्तरीय बनाया जाएगा. निजी और सरकारी वाहनों के चलने के लिए अलग अलग व्यवस्था होगी. इसमें ट्रैफिक सिग्नल नहीं होंगे ताकि प्रदूषण कम फैले.

    2- सौर ऊर्जा का अधिक उपयोग

    Rajasthan Solar Energy In The Country In The First Place - देश में सौर ऊर्जा  में पहले स्थान पर राजस्थान | Patrika News

    इन शहरों को बिजली के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए इन शहरों में अधिक से अधिक सौर ऊर्जा का प्रयोग किया जाएगा. सभी सार्वजनिक जगहों र सौर ऊर्जा का ही इस्तेमाल किया जाएगा. शहर में रहने वाले लोगों को भी सौर ऊर्जा के अधिक से अधिक उपयोग के लिए प्रेरित किया जाएगा.

    3- सीवर का पानी नदियों में नहीं जाएगा

    इन शहरों को बसाते समय नदियों को गंदगी से बचाने का भी पूरा इंतजाम किया जाएगा. इन शहरों का सीवर नदियों में नहीं जाएगा. इस पानी का रिसाइक्लिंग करके सिंचाई और बागवानी आदि कामों में उपयोग किया जाएगा.

    4- जल संरक्षण का इंतजाम

    जल संरक्षण पर निबंध, वर्षा जल, महत्व, अर्थ, विधि: water conservation essay  in hindi, importance, process, india, methods, project

    इन शहरों में जल संरक्षण की भी पूरी व्यवस्था रहेगी. बारिश के पानी का संरक्षण करने के लिए सरकार और निजी भवनों में प्रबंध किया जाएगा.

    Hot Topics

    उत्तर प्रदेश में रिटायर्ड फौजी महज एक एकड़ की जमीन में कर रहे हैं मछली पालन, 5 लाख की हो रही कमाई

    कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं होता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों. ये सुनकर कुछ लोग हंसते हैं कि ऐसा हुआ...

    गाजीपुर के लाल आलोक रंजन राय ने सिविल सेवा को जीत बढ़ाया परिवार, जिले का मान, यूं पाई सफलता

    गाजीपुर:करीब दो दशक पहले की बात है। एक बच्चा अपने बड़े भाई के कंधे पर बैठ गांव की सैर पर था। बच्चा कंधों पर...

    उत्तर प्रदेश : नए ग्राम प्रधानों के लिए खुशखबरी, ग्राम निधि खाते में होंगे 117 करोड़

    बरेली में ग्राम प्रधानों का कार्यकाल खत्म होने वाला है. 25 दिसबंर को इनका कार्यकाल खत्म हो जाएगा. नए मुखिया के चुनाव की प्रक्रिया...

    Related Articles

    मुकेश अंबानी के घर में है बर्फ का कमरा, देखिए अंदर से कितना है भव्य

    भारत के सबसे अमीर आदमी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की लग्जरी लाइफ के बारे में तो सब जानते हैं. मुकेश अंबानी...

    हर साल अनार से कमा रहीं 25-30 लाख, संतोष देवी ने पेश की जबर्दस्त मिसाल

    संतोष का बचपन से ही खेती के प्रति बेहद लगाव था. उनके पिता के पास 20 बीघा खेती है. इसलिए संतोष ने खेती ने...

    लौकी की खेती कर लाखों का मुनाफा कमा रहा है उत्तर प्रदेश का यह किसान, खर्च किए केवल 15 हजार

    भारत कहने को तो कृषि प्रधान देश है लेकिन यहाँ किसानों की हालत बहुत ही खराब है. इसलिए कई किसान अब किसानी से नाता...