Ghazipur : कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन निर्वाचन के लिए हुआ नामांकन

गाजीपुर। कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन सामान्‍य निर्वाचन 2021 के लिए मंगलवार को अध्‍यक्ष पद पर काशीनाथ राय, शंकर सिंह यादव ने पर्चा दाखिल किया। वरिष्‍ठ...
More

    कश्मीर की बर्फबारी में 5 दिन तक फंसे रहे गाजीपुर के ये 11 दोस्त, फिर हुआ कमाल

    गाजीपुर: कल्पना कीजिए कि आप जनवरी की इस ठंड में कश्मीर में हैं और बर्फबारी में फंस जाइए। वो भी एक दो घंटे के लिए नहीं बल्कि पूरे 5 दिन तक। ऊपर से खाने खरीदने का पैसा भी खत्म हो जाए। कल्पना करते ही देह में सिहरन दौड़ने लगती है। लेकिन ये महज कल्पना नहीं है। गाजीपुर के 11 लोगों की ये असली वाली कहानी है, जो पिछले दिनों उनके साथ घटी। हालांकि इस कहानी का अंत सुखांत हुआ और सुखांत होने की वजह रहे जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा। जिन्होनें इस मामले को जानते ही अपने गृह जिले के इन सभी लोगों की मदद की। तत्काल रूप से सभी सरकारी तंत्रों को इनके बचाव में लगा दिया। जिसके बाद ही इन सभी की सुरक्षित घर वापसी संभव हो सकी।

    कुलगाम में फंसे थे गाजीपुर के 11 लोग

    Manoj Sinha appointed L-G of Jammu and Kashmir after Murmu resigns - The  Hindu

    गाजीपुर के 11 दोस्तों को उनकी कश्मीर यात्रा इस बार भारी पड़ गई। ये 11 लोग कश्मीर के कुलगाम में बर्फबारी में फंस गए। फंसे हुए 5 दिन बीत गए और रसद-पैसा सब खत्म हो गया। ऐसे में जब जान की आफत बन आई तो इन दोस्तों ने ट्विटर पर अपील शुरू की। ऐसे में इनके लिए देवदूत बनकर आए जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा।

    जानें कैसे मिली मदद

    इन 11 लोगों में से एक आशीष यादव ने ट्विटर पर मदद मांगी थी। उन्होंने एलजी मनोज सिन्हा को टैग कर उनसे मदद मांगते हुए लिखा, ‘मैं आप लोगों से सादर अनुरोध करता हूं कि हम 11 लोग गृह जनपद गाजीपुर से पिछले 5 दिनों से कुलगाम श्रीनगर में बिना खाने पीने और पैसे के यहां फसे हुए हैं। श्रीमान से निवेदन है की हम प्रार्थी को यहा से अपने गृह जनपद जाने की व्यवस्था करें।’

    जिसके बाद तत्काल रूप से मनोज सिन्हा ने अपने गृह जनपद के लोगों की मदद के लिए जम्मू कश्मीर के पूरे सरकारी तंत्र को इस काम में लगा दिया।

    रेस्क्यू ऑपेरेशन के पूरा होने के बाद इन दोस्तों में से एक अरुण श्रीवास्तव ने ये पूरा वाकया ट्वीट कर बताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘5 दिन से हम 11 दोस्त ग़ाज़ीपुर के रहने वाले श्रीनगर में बर्फ़बारी में फंसे हुए थे सड़क पर । जहाँ 3 डिग्री से भी कम temperature था। हमारे पास पैसे ख़त्म थे और अब खाने की भी परेशानी थी। उसके बाद हम लोगों ने मनोज सिन्हा जी के ग़ाज़ीपुर के एक सहयोगी से बात की । उन भैया ने हमारी बात मनोज सिन्हा जी तक तुरंत पहुँचायी और फिर मनोज सिन्हा जी ने हमारी मदद तुरंत की।

    अरुण आगे लिखते हैं, ‘फिर हमारे पास सभी बड़े अधिकारियों का फ़ोन आया और हमें सड़क पर से ले जाकर एक सरकारी गेस्ट हाउस में जगह दी गयी । फिर अगले दिन हमारे पास वहाँ के एस॰पी॰ साहब का फ़ोन आया और हमें चेक पोस्ट पार करवा दिया गया । इस तरह से हमें एक नया जीवन मनोज सिन्हा जी ने हमारी जान बचा कर दिया।’

    Hot Topics

    उत्तर प्रदेश में रिटायर्ड फौजी महज एक एकड़ की जमीन में कर रहे हैं मछली पालन, 5 लाख की हो रही कमाई

    कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं होता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों. ये सुनकर कुछ लोग हंसते हैं कि ऐसा हुआ...

    गाजीपुर के लाल आलोक रंजन राय ने सिविल सेवा को जीत बढ़ाया परिवार, जिले का मान, यूं पाई सफलता

    गाजीपुर:करीब दो दशक पहले की बात है। एक बच्चा अपने बड़े भाई के कंधे पर बैठ गांव की सैर पर था। बच्चा कंधों पर...

    उत्तर प्रदेश : नए ग्राम प्रधानों के लिए खुशखबरी, ग्राम निधि खाते में होंगे 117 करोड़

    बरेली में ग्राम प्रधानों का कार्यकाल खत्म होने वाला है. 25 दिसबंर को इनका कार्यकाल खत्म हो जाएगा. नए मुखिया के चुनाव की प्रक्रिया...

    Related Articles

    Ghazipur : कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन निर्वाचन के लिए हुआ नामांकन

    गाजीपुर। कलेक्‍ट्रेट बार एसोसिएशन सामान्‍य निर्वाचन 2021 के लिए मंगलवार को अध्‍यक्ष पद पर काशीनाथ राय, शंकर सिंह यादव ने पर्चा दाखिल किया। वरिष्‍ठ...

    Ghazipur : दोस्त के साथ निमंत्रण देने आया युवक डू’बा, तलाश जारी

    जमानिया (गाजीपुर)। जमानिया कोतवाली क्षेत्र के चक्काबांध गांव के मुख्य नहर में मंगलवार की सुबह एक युवक डूब गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस...

    योगी सरकार इन ऐक्शन – अतीक अहमद के 1 और गुर्गे के आलीशान 2 मंजिला भवन पर चला बुलडोजर

    योगी सरकार लगातार अपराधियों के खिलाफ मुहिम छेड़े हुए है. इसी क्रम में पुलिस ने बाहुबली अतीक अहमद के एक गुर्गे अजय उर्फ नन्हा...