spot_img

रेलवे ने कपड़ा कारोबारियों को दी सौगात, सूरत से बिहार चली पहली Textile Parcel स्पेशल ट्रेन

भारतीय रेल ने कपड़ा कारोबारियों को एक जगह से दूसरी जगह तक कपड़ा ले जाने के लिए एक राहत भरी सौगात दी है. भारतीय रेल ने गुजरात के सूरत से बिहार तक कपड़ा पहुंचाने के लिए एक ‘टेक्सटाइल पार्सल’ स्पेशल ट्रेन की शुरुआत की है. शनिवार को पहली बार इस ट्रेन को रवाना किया गया. पश्चिम रेलवे के अधिकारियों ने रविवार को इस बात की जानकारी दी थी. 

कपड़ा कारोबार को बढ़ावा

अधिकारियों ने बताया कि इस ट्रेन को चलाने का उद्देश्य किफायती, तेज और सुरक्षित ट्रांसपोर्ट के जरिए सूरत के कपड़ा बाजार को बढ़ावा देना है. पश्चिम रेलवे इस जानकारी को लेकर ट्वीट किया. पश्चिम रेलवे ने लिखा कि रेल और कपड़ा राज्यमंत्री दर्शना जरदोश ने शनिवार को सूरत से उधना न्यू गुड्स से पटना के निकट दानापुर और मुजफ्फरपुर के रामदयालू नगर के लिए इस स्पेशल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. 

25 मोडिफाई डिब्बों से लैस है ट्रेन

पश्चिम रेलवे के चीफ पीआरओ सुमित ठाकुर ने अपने एक बयान में कहा कि उधना न्यू गुड्स में संशोधित एनएमजी (New Modified Goods) डिब्बों में पहली बार कपड़ा सामग्री को लोड किया गया. इसके बाद ये ट्रेन पहली बार सूरत से मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हुई.

बताते चलें कि इससे पहले पश्चिम रेलवे के मुंबई डिविजन की तरफ से हाल ही में पहली बार 202.4 टन कपड़ा सामग्री को सूरत के पास चलथन से कोलकाता से शालीमार तक पहुंचाया गया था. बता दें कि पहली टेक्सटाइल पार्सल स्पेशन ट्रेन के रवाना होने के दौरान वहां पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी समेत स्थानीय विधायक और फेडरेशन ऑफ सूरत टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि मौजूद थे. 

Must Read

Related Articles