spot_img

उत्तर प्रदेश को मिलेगी बड़ी सौगात, इन दो एयरपोर्ट से शुरू होगी हवाई सेवा

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों से पहले ही सूबे को एक बड़ी सौगात मिलने वाली है. जानकारी के अनुसार प्रदेश के दो नए एयरपोर्ट से अब जल्द ही उड़ानें शुरू होने वाली हैं. शासन के सूत्रों के अनुसार आने वाले 100 दिनों के अंदर ही कुशीनगर एयरपोर्ट से विमानों की आवाजाही शुरू हो जाएगी. वहीं नोएडा स्थित जेवर एयरपोर्ट के लिए 9000 करोड़ रुपये जारी किए जाएंगे. जेवर के लिए जारी होने वाले 9 हजार करोड़ रुपये से निर्माण कार्य में तेजी लाई जाएगी और जल्द ही निर्माण पूरा कर यहां से भी उड़ानें शुरू की जाएगी. इसको लेकर तेजी से काम किया जा रहा है.

noida international airport: YIAPL has applied to UP government for  concession in several items including GST on aircraft fuel- वाईआईएपीएल ने  यूपी सरकार को विमान ईंधन पर GST सहित कई मदों में

कुछ ऐसा होगा जेवर का प्लान

जानकारी के अनुसार जेवर एयरपोर्ट के निर्माण संबंध में पहले बाउंड्रीवॉल बनाने का काम शुरू होगा. उसके बाद वाईआईएपीएल का दफ्तर और एयर ट्रैफिक कंट्रोल की बिल्डिंग बनाने का काम शुरू होगा. इसके साथ ही रनवे बनेगा . एक रनवे की लम्बाई 4 किमी होगी. पहले फेस में दो रनवे बनाए जाएंगे. हर फेस के निर्माण कार्य के मुताबिक यहां टर्मिनल बिल्डिंग, कार्गो, ईंधन फॉर्म, वाहनों की पार्किंग और सार्वजनिक परिवहन केंद्र आदि भी बनाया जाएगा. इसके साथ ही ज्यूरिख कंपनी यहां पर इनफार्मेशन सेंटर भी बनाएगी.

Yogi government to develop Jewar Airport as Asias biggest plans 6 runways –  News18 Hindi

जेवर एयरपोर्ट के मास्टर प्लान के मुताबिक एयरपोर्ट में दाखिल होने और बाहर निकलने के लिए बनाए जाने वाले एंट्री और एग्जिट गेट एक ही दिशा में होंगे. यह गेट गांव दयानतपुर की तरफ बनाए जाएंगे. यह देश का पहला एयरपोर्ट होगा जिसके एंट्री और एग्जिट गेट एक ही तरफ होंगे. जबकि आमतौर पर एयरपोर्ट के एंट्री और एग्जिट गेट अलग-अलग रखे जाते हैं.

हाल ही में बढ़ी थी थी कुशीनगर एयरपोर्ट लाइसेंस की अवधि

Complete information about domestic and international airports in Uttar  Pradesh

उल्लेखनीय है कि कुशीनगर एयरपोर्ट के लाइसेंस की अवधि को हाल में ही डेढ़ साल के लिए और बढ़ाया गया था. पूर्व में मिला लाइसेंस 21 अगस्त को खत्म होने जा रहा था. जिसके बाद नागर विमानन महानिदेशालय ने इसे 18 महीने के लिए और बढ़ दिया है. अब ये प्रदेश का तीसरे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लाइसेंस वाला एयरपोट्र होगा. साथ ही प्रदेश के सबसे बड़े रनवे वाला हवाईअड्डा भी.

Must Read

Related Articles