spot_img

वाराणसी से हावड़ा बुलेट ट्रेन के होंगे 10 स्टेशन, रेल ट्रैक के लिए 760 किलोमीटर लंबा बनेगा फ्लाई ओवर

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी हाई स्पीड रेल परियोजना पर लगातार काम किया जा रहा है। वाराणसी से हावड़ा तक 760 किलोमीटर लंबे मार्ग पर 10 स्टेशन वाराणसी, बक्सर, आरा, पटना, गया, धनबाद अखनौल, दुर्गापुर, वर्धमान तथा हावड़ा बनाए जाने हैं। इस रेल मार्ग के निर्माण के लिए 26 कर्मचारी एक साथ मिलकर 13 मशीनों से ज़मीन में नमी की जांच कर रहे हैं।

260 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज रफ्तार से चलने वाली हाई स्पीड बुलेट ट्रेन वाराणसी से शुरू होकर बिहार, झारखंड होते हुए पश्चिम बंगाल के हावड़ा तक जाने वाली है। बुलेट ट्रेन के माध्यम से वाराणसी से हावड़ा तक की यात्रा महज पांच घंटे में पूरी की जा सकेगी।

कोरोना संक्रमण की वजह से यह रूक गया था लेकिन बहुत जल्द ही डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा ताकि पहले से ही निर्धारित साल 2030 तक बुलेट ट्रेन का संचालन शुरू किया जा सके। राष्ट्रीय हाई स्पीड रेल कार्पोरेशन लिमिटेड बुलेट ट्रेन का सुरक्षित तरीके से संचालन करने के लिए इसके ट्रैक को पूरी तरह से एलीवेटेड बनाने वाला है इसलिए किसी भी प्रकार के विरोध से बचने के लिए इसकी जानकारी किसानों को भी दी रही है।

दिल्ली से वाराणसी के कैंट स्टेशन के लिए भी बुलेट ट्रेन संचालित की जानी है बुलेट ट्रेन के स्टेशन पर जाने के लिए कैंट स्टेशन के अन्दर से ही रास्ता बनाया जाना है इसलिए कैंट स्टेशन पर यात्री सुविधाएँ बढ़ाने के साथ साथ सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे।

Must Read

Related Articles