spot_img

मात्र दो बीघे में शुरू की थी जीरे की खेती, आज हर महीने कमा रहे लाखों

कोरोना महामारी ने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में स्वास्थ्य संकट के साथ साथ रोजगार का संकट भी खड़ा कर दिया था। व्यापार पर आधारित दुनिया के कई देश इस संकट से नहीं उबर पा रहे थे लेकिन कृषि आधारित भारत नें अपने खाद्य उत्पादनों में और अधिक वृद्धि की है। कोरोना काल के बाद कई शिक्षित युवाओं ने अपने ज्ञान का प्रयोग कर नये तरीके की खेती की शुरुआत की लेकिन आज हम एक एेसे व्यक्ति की बात करेंगे जिसने बहुत पहले ही खेती करके करोड़ों की संपत्ति इकट्ठा कर ली है।

मूल रूप से राजस्थान के जालोर के रहने वाले योगेश जोशी ने स्नातक तक की पढ़ाई पूरी की है, पढ़ाई के बाद उनका परिवार योगेश को किसी सरकारी नौकरी में देखना चाहते थे लेकिन योगेश ने खेती करने को ही चुना। योगेश ने पढ़ाई के वक्त कहीं जीरे की जैविक खेती के बारे में सुना था इसलिए पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने इसकी गहन जानकारी इकट्ठा की और साथ ही साथ जैविक खेती में डिप्लोमा भी कर डाला फिर साल 2009 में पूर्ण रूप से खेती करनी शुरू कर दी।

शुरुआत में योगेश को उनके अनुमान के अनुसार मुनाफा नहीं हो पा रहा था लेकिन वह लगातार इस काम में लगे रहे, योगेश ने दो बीघे जमीन पर जीरे की खेती कर सात किसानों को अपने साथ जोड़ा और कृषि वैज्ञानिक से जैविक खेती का प्रशिक्षण भी हासिल करने लगे तब जाकर उन्हें सफलता हासिल हुई। आज योगेश के साथ लगभग 3000 किसान जुड़े हुए हैं और योगेश लाखों की कमाई हर महीने करते हैं, योगेश रैपिड आर्गेनिक प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कंपनी भी चलाते हैं जिसका सलाना टर्नओवर 60 करोड़ से भी ज्यादा है। योगेश की सफलता को देखकर उन्हें कई अवार्ड से नवाजा जा चुका है और इन्हीं को देखकर कई नामचीन हस्तियाँ भी जैविक खेती में हाथ आजमा रहे हैं।

Must Read

Related Articles