spot_img

102 शहरों में स्मार्ट सड़कें और पार्किंग होंगी, सोलर ट्री और सोलर बेंच के साथ शेयरिंग पर बाइक भी

केन्द्र सरकार की स्मार्ट सिटी परियोजना की तर्ज पर ही उत्तर प्रदेश सरकार भी प्रदेश के 102 शहरों (नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों) में स्मार्ट पार्किंग जोन तथा स्मार्ट सड़कों का निर्माण करवाने वाली है। इस परियोजना पर काम शुरू करने के लिए नए बजट में सरकार से 100 करोड़ रुपये की मांग की गई है। भाजपा सरकार के नए कार्यकाल के 5 सालों में कुल 220 शहरों को स्मार्ट सिटी बनाये जाने का निर्णय लिया गया है लेकिन पहले चरण के लिए नए वित्तीय वर्ष में केवल 102 शहरों को स्मार्ट बनाया जाएगा।

‘अमृत शहर’ वाले शहरों में 60 फीसदी खर्च राज्य सरकार देगी व 40 फीसदी खर्च स्थानीय निकायों को स्वयं करना होगा तथा अन्य नगर पालिका परिषदों में 75 और 25 फीसदी की हिस्सेदारी होगी और नगर पंचायतों में 90 और 10 फीसदी की हिस्‍सेदारी होगी।केन्द्र सरकार की स्मार्ट सिटी परियोजना के लिए बनाई गई प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग कमेटी तथा तकनीकी सपोर्ट ग्रुप से इस परियोजना के लिए भी मदद माँगी जाएगी। संबंधित जिले के डीएम की अध्यक्षता में कमेटी का गठन कर कमेटी के द्वारा डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार करने का काम किया जाएगा।

लखनऊ की 9, कानपुर, वाराणसी तथा प्रयागराज की 8-8, आगरा, बरेली तथा मुरादाबाद की 7-7, अलीगढ़, सहारनपुर तथा गोरखपुर की 6-6, गाजियाबाद, फिरोजाबाद तथा मेरठ की 4-4, मथुरा तथा शाहजहांपुर की 3-3, अयोध्या की 2 और झांसी की 10 नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जाएगा। इन 102 स्मार्ट शहरों में स्मार्ट सड़क, स्मार्ट पार्किंग जोन, स्मार्ट हेल्थ एटीएम, स्ट्रीट लाइट ऑटोमेशन, प्लेस मेकिंग सिस्टम, पब्लिक बाइसिकल शेयरिंग सिस्टम तथा सोलर ट्री और स्मार्ट सोलर बेंच भी तैयार किए जाएंगे।

Must Read

Related Articles