spot_img

बिहार के इन आठ जनपदों से होकर गुजरेगा गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस वे, निरीक्षण का काम हो गया है शुरू

भारतमाला परियोजना के तहत बिहार की जनता को साल 2025 तक एक नया ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे मिल जाएगा। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से लेकर पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी तक 520 किलोमीटर लंबे ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे के निर्माण के लिए उत्तर बिहार में निरक्षण का काम शुरू हो चुका है। बिहार के आठ जनपदों पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया एवं किशनगंज से होकर गुजरने वाले इस एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य पूरा हो जाने के बाद इन दोनों बड़े शहरों के बीच का सफर महज छः घंटे के भीतर पूरा कर लिया जाएगा जिससे तीनो राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा।

इस ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण तीनों राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय राजमार्ग 27 के समानांतर किया जा रहा है। इस एक्सप्रेस वे के माध्यम से बिहार और नेपाल से पूर्वोत्तर भारत से लेकर राजधानी दिल्ली एवं उत्तराखंड तक की यात्रा बेहद आसान होगी। नेपाल के बॉर्डर के नजदीक से गुजरने वाले यह एक्सप्रेस वे अधिक आबादी वाले इलाकों से है जबकि ग्रीन फील्ड होने की वजह से एक्सप्रेस वे के बीच में कई तरह के पौधे भी होंगे इसलिए यह एक्सप्रेस वे यात्रियों के लिए बहुत खास होने वाला है।

तीनों राज्यों में से इस ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे का सबसे ज्यादा 416.2 किलोमीटर लंबा भाग बिहार राज्य में, 84.4 किलोमीटर लंबा भाग उत्तर प्रदेश में और 18.97 किलोमीटर लंबा भाग पश्चिम बंगाल में पड़ने वाला है। इस एक्सप्रेस वे पर एंट्री पॉइंट की संख्या कम होने की वजह से इस सड़क से सफर करने वाले यात्री मुख्य शहरों में ही एक्सप्रेस वे पर चढ़ और उतर पाएँगे और दूसरे एक्सप्रेस वे के मुकाबले यह एक्सप्रेस वे काफी सीधा भी होगा।

Must Read

Related Articles